ब्रेकिंग न्यूज़

भीषण सड़क हादसे में कार सवार यूपी पुलिस के तीन कर्मचारियों सहित 4 लोगों की दर्दनाक मौतग्वालियर - सीएम शिवराज सिंह चौहान ने गुरुद्वारा दाता बंदी छोड़ पर मत्था टेककर गुरु हरगोबिंद साहिब को किया नमनग्वालियर - कमलाराजा अस्पताल में बच्चों की मौत हाईकोर्ट सख्त, पांच दिन में सुधार के आदेशगुरू गोबिंद साहिब की प्रेरणा समाज के हर वर्ग के लिए प्रासंगिक - केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधियाभारतीय किसान यूनियन की सभी मांगों को मानकर तीनों काले कृषि कानून वापस ले सरकार - दिग्विजय सिंहकिसान संगठनों का दावा, ग्वालियर में बंद सफल रहा, हाथ जोड़कर कराया ग्वालियर बंद, जताया आमजन का आभारग्वालियर - सम्राट मिहिर भोज के संबंध में 4 अक्टूबर तक साक्ष्य व प्रमाण प्रस्तुत किये जा सकेंगेग्वालियर - लोकतंत्र सेनानियों का सम्मान करना हमारा दायित्व है : केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधियाग्वालियर - केन्द्रीय मंत्री बनने के बाद ग्वालियर आगमन पर श्री सिंधिया का भव्य स्वागत, केन्द्रीय मंत्री श्री तोमर सहित प्रदेश के मंत्री भी सम्मलित हुए स्वागत कार्यक्रमों मेंग्वालियर - दो आदतन अपराधी जिला बदर

ग्वालियर स्टेशन पुनर्विकास

मध्य प्रदेश, GoonjMP Updated : Friday, 02 Dec 2022

स्टेशन पुनर्विकास का ठेका लेने वाली कंपनी के प्रतिनिधियों ने स्टेशन पर सर्वे प्रक्रिया शुरू कर दी है। मिट्टी की टैस्टिंग के लिए सैंपल भी ले लिए हैं। इस हफ्ते में हैदरावाद की कंपनी अपना सेटअप जमा लेगी। 16 दिसंबर तक उसे काम शुरू कर देगी। यदि काम शुरू नहीं किया तो उस पर जुर्माना लगना शुरू होगा। इसलिए कंपनी जल्द से जल्द काम शुरू करना चाहती है। सबसे पहले क्वार्टरों को तोड़ना शुरू होगा। 201 क्वार्टर तोड़ने हैं और पेड़ काटने हैं। इस कार्य का भूमिपूजन कराया जाएगा स्टेशन पुनर्विकास का ठेका हैदराबाज की केपीसी कंपनी को मिला है। इस कंपनी को यह ठेका 462 .79 करोड़ में मिला है। ठेका देने की प्रक्रिया पूरी हो गई है। अब कंपनी को अपना कार्य शुरू करना है, जिसके चलते कंपनी के प्रतिनिधियों ने अपना सर्वे शुरू कर दिया है। साथ ही कंपनी को अपना कार्यालय भी खोलना है। रेलवे के अधिकारियों ने प्लेटफार्म नंबर एक पास चार जगह दिखाई थी। स्टेशन पर अपना कार्यालय खोला है।क्वार्टरों व अाफिसों की होनी है तुड़ाई प्लेटफार्म नं. एक की ओर बने 201 क्वार्टरों की तुड़ाई की जानी है। आवास के साथ ही आरपीएफ थाना, रेलवे कोर्ट सहित कुछ कार्यालयों को भी तोड़ा जाना है। कार्य शुरू होने से पहले इनकी तुड़ाई की जानी है। इसके लिए कार्यालयों को शिफ्ट करने की तैयारी की जा रही है, जिससे कार्य प्रभावित नहीं हो। इन कार्यालयों के लिए नई इमारत बनाने पर भी विचार किया जा रहा है।