ब्रेकिंग न्यूज़

भीषण सड़क हादसे में कार सवार यूपी पुलिस के तीन कर्मचारियों सहित 4 लोगों की दर्दनाक मौतग्वालियर - सीएम शिवराज सिंह चौहान ने गुरुद्वारा दाता बंदी छोड़ पर मत्था टेककर गुरु हरगोबिंद साहिब को किया नमनग्वालियर - कमलाराजा अस्पताल में बच्चों की मौत हाईकोर्ट सख्त, पांच दिन में सुधार के आदेशगुरू गोबिंद साहिब की प्रेरणा समाज के हर वर्ग के लिए प्रासंगिक - केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधियाभारतीय किसान यूनियन की सभी मांगों को मानकर तीनों काले कृषि कानून वापस ले सरकार - दिग्विजय सिंहकिसान संगठनों का दावा, ग्वालियर में बंद सफल रहा, हाथ जोड़कर कराया ग्वालियर बंद, जताया आमजन का आभारग्वालियर - सम्राट मिहिर भोज के संबंध में 4 अक्टूबर तक साक्ष्य व प्रमाण प्रस्तुत किये जा सकेंगेग्वालियर - लोकतंत्र सेनानियों का सम्मान करना हमारा दायित्व है : केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधियाग्वालियर - केन्द्रीय मंत्री बनने के बाद ग्वालियर आगमन पर श्री सिंधिया का भव्य स्वागत, केन्द्रीय मंत्री श्री तोमर सहित प्रदेश के मंत्री भी सम्मलित हुए स्वागत कार्यक्रमों मेंग्वालियर - दो आदतन अपराधी जिला बदर

देह व्यापार से मुक्त कराई गई 10 बांग्लादेशी युवतियां वृद्धाश्रम से फरार

मध्य प्रदेश, GoonjMP Updated : Thursday, 08 Jul 2021

देह व्यापार से मुक्त कराई गई 10 बांग्लादेशी युवतियां वृद्धाश्रम से फरार
              GOONJ M.P News
इंदौर. देह व्यापार के अड्डे से मुक्त करवाई गई 10 बांग्लादेशी युवतियों के फरार होने से हड़कंप मच गया है। युवतियों को बाणगंगा स्थित वृद्धाश्रम में रखा गया था। उनकी चौकसी के लिए एमआइजी और लसूड़िया थाने के चार पुलिसकर्मी चौबीसों घंटे पहरा भी देते थे। शक है युवतियों को भगाने में मानव तस्करी के आरोपित सागर जैन उर्फ सैंडो और गुजरात के दलालों बाबू का हाथ है। पुलिस संदेहियों और युवतियों की कॉल डिटेल निकाल रही है। विजयनगर थाना पुलिस ने पिछले वर्ष नवंबर में महालक्ष्मी नगर स्थित मोहित गेस्ट हाउस से 16 युवतियों को मुक्त करवाया था। उनमें कुछ युवतियां भारतीय और 11 बांग्लादेशी पाई गई। इन युवतियों को बांग्लादेशी एजेंट बख्तियार, शबाना जैसे दलालों ने अवैध तरीके से भारतीय सीमा में दाखिल करवाया था। पहले मुंबई में देह व्यापार के लिए मानसिक रूप से तैयार किया और बाद में गुजरात के दलालों को बेच दिया। सागर उर्फ सैंडो और मोहित युवतियों को इंदौर ले आए।