ब्रेकिंग न्यूज़

भीषण सड़क हादसे में कार सवार यूपी पुलिस के तीन कर्मचारियों सहित 4 लोगों की दर्दनाक मौतग्वालियर - सीएम शिवराज सिंह चौहान ने गुरुद्वारा दाता बंदी छोड़ पर मत्था टेककर गुरु हरगोबिंद साहिब को किया नमनग्वालियर - कमलाराजा अस्पताल में बच्चों की मौत हाईकोर्ट सख्त, पांच दिन में सुधार के आदेशगुरू गोबिंद साहिब की प्रेरणा समाज के हर वर्ग के लिए प्रासंगिक - केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधियाभारतीय किसान यूनियन की सभी मांगों को मानकर तीनों काले कृषि कानून वापस ले सरकार - दिग्विजय सिंहकिसान संगठनों का दावा, ग्वालियर में बंद सफल रहा, हाथ जोड़कर कराया ग्वालियर बंद, जताया आमजन का आभारग्वालियर - सम्राट मिहिर भोज के संबंध में 4 अक्टूबर तक साक्ष्य व प्रमाण प्रस्तुत किये जा सकेंगेग्वालियर - लोकतंत्र सेनानियों का सम्मान करना हमारा दायित्व है : केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधियाग्वालियर - केन्द्रीय मंत्री बनने के बाद ग्वालियर आगमन पर श्री सिंधिया का भव्य स्वागत, केन्द्रीय मंत्री श्री तोमर सहित प्रदेश के मंत्री भी सम्मलित हुए स्वागत कार्यक्रमों मेंग्वालियर - दो आदतन अपराधी जिला बदर

गौशाला के बाहर लंपी वायरस से ग्रसित गाय

देवरी गौशाला के बाहर तड़प रही गाय:कर्मचारियों ने अन्दर लेने से किया इंकार, जिले में तीन हजार गायें लंपी का शिकार

मुरैनाएक घंटा पहले

गौशाला के बाहर लंपी वायरस से ग्रसित गाय - Dainik Bhaskar

गौशाला के बाहर लंपी वायरस से ग्रसित गाय

मुरैना की देवरी गौशाला के बाहर लंपी वायरस से ग्रसित गाय तड़प रही है लेकिन गौशाला के कर्मचारियों ने उसे गौशाला के अन्दर लेने से साफ इंकार कर दिया। जब गौसेवकों ने कहा कि इसका इलाज ही कर दो, तो वे बोले कि हमें इससे कोई मतलब नहीं है, हम इलाज क्यों करें। बता दें, कि मुरैना में लंपी वायरस से ग्रसित गायों की हालत दिनों-दिन खराब होती जा रही है। अकेले मुरैना शहर में ही 400 गायें लंपी से ग्रसित घूम रही हैं। पूरे जिले का आंकड़ा तीन हजार के लगभग है। कई गायें व सांड़ मार चुके हैं, बावजूद जिला व निगम प्रशासन इस पर नियंत्रण नहीं कर पा रहा है। हद तो तब हो गई जब नगर निगम की देवरी स्थित गौशाला के बाहर लंपी वायरस से ग्रसित एक गाय पड़ी कराह रही है, गौसेवक वहां पहुंचे और उन्होंने गौशाला के सुरक्षा गार्ड से कहा कि इसे अन्दर कर लो तथा इसका इलाज करवा दो, तो उसने अन्दर करने से साफ इंकार कर दिया। जब उन्होंने कहा कि उसे कुछ भूसा ही खाने को दे दो जिससे यह जिंदा बनी रहे लेकिन उन्होंने भूसा देने से भी इंकार कर दिया। बता दें, कि निगम की इस गौशाला का एक माह का खर्चा 25 लाख रुपए आता है।गौशाला में 9 कर्मचारी तैनात
नगर निगम की देवरी गौशाला में मौजूदा हालत में 9 कर्मचारी तैनात हैं। इन कर्मचारियों को हर माह 10-10 हजार रुपए वेतन दिया जाता है। इसके बावजूद यहां गायों की हालत बद से बदतर है। यहां मौजूद गायें भूसे के लिए तरस रही हैं।

News : Tuesday, 27 Sep 2022

केन्द्रीय कृषि मंत्री सहित प्रदेश के कई मंत्रियों ने की केन्द्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री श्री सिधिंया की अगवानी

मुरैना। केन्द्रीय कृषि और किसान कल्याण मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर सहित प्रदेश के जल संसाधन मंत्री तुलसी सिलावट, ऊर्जा मंत्री प्रधुम्न सिंह तोमर, परिवहन राजस्व मंत्री गोविंद सिंह राजपूत, स्वास्थ्य मंत्री प्रभुराम चौधरी, नगरीय विकास एवं आवास मंत्री ओपीएस भदौरिया, भिण्ड-दतिया संसदीय क्षेत्र की सांसद श्रीमती संध्या राय, जौरा विधायक सूबेदार सिंह रजौधा, अम्बाह विधायक कमलेश जाटव, भाजपा जिलाध्यक्ष डॉ. योगेशपाल गुप्ता सहित पूर्व मंत्रियों एवं विधायकों ने केन्द्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिधिंया सहित बड़ी संख्या में कार्यकर्ताओं ने उपस्थित होकर मुरैना सीमा में प्रवेश करने पर चंबल राजघाट पर भव्य स्वागत कर अगवानी की।  

सर्वप्रथम श्री सिधिंया जब चंबल राजघाट पुल पर पहुंचे, हजारों कार्यकर्ता और ग्रामीणजन स्वागत करने के लिये उमड़ पड़े। इस मौके पर चंबल संभाग के कमिश्नर आशीष सक्सेना, चंबल रेंज के पुलिस महानिरीक्षक सचिन अतुलकर, कलेक्टर बी.कार्तिकेयन, पुलिस अधीक्षक ललित शाक्यवार सहित बड़ी संख्या में गणमान्य नागरिक उपस्थित थे। 

केन्द्रीय मंत्री श्री सिधिंया के साथ रोड़ शो में केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर, भिण्ड दतिया संसदीय क्षेत्र की सांसद श्रीमती संध्या राय सहित प्रदेश के मंत्रीगण उपस्थित थे। 

केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिधिंया के भव्य रोड़ शो में सुरक्षा की दृष्टि से भिण्ड और मुरैना से एक हजार से अधिक पुलिस जवान तैनात किये गये थे।

News : Wednesday, 22 Sep 2021

चंबल फॉरेस्ट एसडीओ श्रद्धा  पंढरे का 3 माह में तबादला, कहा- सरकार ने काम करने का मौका नहीं दिया

चंबल फॉरेस्ट एसडीओ श्रद्धा  पंढरे का 3 माह में तबादला, कहा- सरकार ने काम करने का मौका नहीं दिया
      GOONJ M.P News
मुरैना. चंबल के मुरैना में रेत माफिया से सीधे टकराने वाली वन विभाग एसडीओ श्रद्धा पंढ़रे काे सरकार ने 3 महीने में ही हटा दिया। लेडी सिंघम के नाम से मशहूर श्रद्धा पर चंबल में रेत खनन रोका तो बौखलाए माफिया ने 3 महीने में 11 हमले करवाए। औसतन हर आठ दिन में एक हमला हुआ। श्रद्धा के एक्शन ने चंबल पुलिस की माफिया से मिलीभगत भी उजागर कर दी। सबकी आंखों की खटकने वाली पंढ़रे ने बांधवगढ़ रिजर्व पार्क तबादला होने पर कहा कि सरकार हमें काम करने का मौका ही कहां देती है। अगर मेरा ट्रांसफर नहीं होता तो राजघाट पर सीधे कार्रवाई करती। राजघाट चंबल नदी के किनारे हैं, जहां से माफिया रेत निकालता है। आदिवासी परिवार की बेटी 36 वर्षीय श्रद्धा नक्सल प्रभावित बालाघाट के बैहर तहसील के बिला टोला गांव की रहने वाली हैं। शुरुआती पढ़ाई छिंदवाड़ा के सरकारी कन्या स्कूल में हुई। यहां वह आदिवासी होस्टल में ही रहीं। बालाघाट के जटाशंकर कॉलेज से बीएससी किया। 2009 में चयन एमपीपीएससी में हो गया। 2010-12 में स्टेट फॉरेस्ट एकेडमी देहरादून में ट्रेनिंग ली। 5 साल का बेटा है। रेंजर की ट्रेनिंग के दौरान उन्हें बैतूल के चिचौली में तैनाती मिली। सागौन की लकड़ी की अवैध कटाई रोकने लगीं तो यहां जंगल माफिया ने सागर ट्रांसफर करा दिया। सागर से फिर बैतूल ट्रांसफर किया गया। बैतूल से उमरिया और उमरिया से मुरैना ट्रांसफर किया गया। सबसे छोटा कार्यकाल मुरैना का रहा।

News : Wednesday, 21 Jul 2021

प्रदेश समाचार

ट्रेंडिंग

इंदौर

भोपाल

ग्वालियर