ब्रेकिंग न्यूज़

मुरैना में सिंधिया की शोक संवेदना: दिल्ली से मुरैना आए और व्यक्त किया भावुक भाषणप्रियंका गांधी वाड्रा ने मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस का घोषणा पत्र सेट किया, युवाओं, महिलाओं और किसानों पर रहेगा फोकसकश्मीर के इकलौते आइनॉक्स थिएटर में 'ओपनहाइमर' के पहले दिन के शोज़ हाउसफुल हो चुके हैंसूरत हाईकोर्ट ने आपराधिक मानहानि के मामले में उनकी सजा सपर रोक लगाने से इनकार कर दिया था।रानी लक्ष्‍मीबाई को किया प्रियंका गांधी ने किया नमन।शरद पवार को नागालैंड ने दिया झटका, 7 विधायकों ने दिया अजित पवार को दिया समर्थनदोस्त की मदद करना पड़ा भारी- दोस्त ने दोस्त को लगाया 13 लाख का चूनाकंपनी दिखाकर बैंक से 35 लाख का लोन लिया, फर्म का पैसा भी निकालामोदी सरनेम केस: गुजरात HC के आदेश के खिलाफ राहुल गांधी की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट 21 जुलाई को करेगा सुनवाईभाई-बहन ने टीचर्स के अत्याचार की दुर्दशा को साझा किया: बोले - "सोनू सर ने हमें धमकाया था कि होमवर्क पूरा नहीं हुआ तो हमें छत से फेंक देंगे"

Gwalior To Sheopur Train: श्योपुर ब्राडगेज ट्रैक पर इलेक्ट्रिक इंजन से ही चलेगी ट्रेन

Gwalior To Sheopur Train: लोगों को श्योपुर तक ब्राडगेज ट्रेन चलने के लिए करीब डेढ़ साल इंतजार करना होगा। मार्च 2025 में इस परिवर्तित ब्राडगेज ट्रैक पर ट्रेन श्योपुर तक शुरू हो जाएगी। इससे लोगों के समय और पैसे की बचत होगी।

 लोगों को श्योपुर तक ब्राडगेज ट्रेन चलने के लिए करीब डेढ़ साल इंतजार करना होगा। मार्च 2025 में इस परिवर्तित ब्राडगेज ट्रैक पर ट्रेन श्योपुर तक शुरू हो जाएगी। इससे लोगों के समय और पैसे की बचत होगी। फिलहाल ग्वालियर से सुमावली के बीच ट्रेन की शुरूआत हो चुकी है और इस ट्रेन को सबलगढ़ तक तकरीबन ट्रैक पूरा होने के बाद अगले साल तक शुरू कर दिया जाएगा। फिलहाल मेमू रायरू, बानमोर गांव और अंबिकेश्वर भी रुकेगी। ग्वालियर से सुमावली तक इस ट्रेन का किराया सिर्फ 30 रखा गया है। इस ट्रैक पर डीजल इंजन का उपयोग नहीं होगा, बल्कि इलेक्ट्रिक इंजन से ही ट्रेन दौड़ाई जाएगी।

 

News : Tuesday, 03 Oct 2023

अभी नहीं हुई मानसून की विदाई, अगले 48 घंटों में शहर से वापस होगा मानसून

Monsoon In Gwalior:बंगाल की खाड़ी में बने कम दबाव के क्षेत्र के प्रभाव से जहां सोमवार को आसमान में बादलों की आवाजाही बनी रही, तो वहीं मंगलवार को भी कमोबेश यही स्थिति रहेगी।

बंगाल की खाड़ी में बने कम दबाव के क्षेत्र के प्रभाव से जहां सोमवार को आसमान में बादलों की आवाजाही बनी रही, तो वहीं मंगलवार को भी कमोबेश यही स्थिति रहेगी। शहर में तापमान सामान्य से ऊपर ही बना हुआ है, जबकि न्यूनतम तापमान में गिरावट का दौर भी थमा हुआ है। मौसम विभाग के अनुसार नए सिस्टम के कारण शहर में न तो वर्षा की संभावना है और न ही अभी मानसून की विदाई हो पाई है। इस सिस्टम के कमजोर पड़ने पर अगले 48 घंटों में शहर से मानसून वापस हो जाएगा।

मौसम विभाग के अनुसार इस समय दक्षिण महाराष्ट्र और दक्षिण झारखंड में अलग-अलग कम दबाव के क्षेत्र बने हुए हैं, लेकिन इनका ग्वालियर-चंबल संभाग में ज्यादा प्रभाव नहीं है, क्योंकि मानसून की वापसी हो रही है। इस समय मानसून की वापसी रेखा गुलमर्ग, धर्मशाला, पंतनगर, इटावा, मुरैना, सवाई-माधोपुर, बाड़मेर से गुजर रही है। ऐसे में अब तेज बारिश की उम्मीद कम है। हालांकि अगले 24 घंटे के दौरान ग्वालियर, दतिया, भिण्ड, शिवपुरी जिलों में आंशिक से मध्यम बादल छाए रहने के साथ कहीं-कहीं बूंदाबांदी हो सकती है। वर्तमान में अंचल के मुरैना व श्योपुर जिलों से मानसून की वापसी हो चुकी है। एक से दो दिन में ग्वालियर सहित संभाग के अन्य जिलों से भी मानसून वापसी की संभावना है। गौरतलब है कि शहर में पिछले 10 दिन से अधिकतम तापमान 35 डिग्री सेल्सियस से ऊपर ही टिका हुआ है। सोमवार को भी यह 35.3 डिग्री सेल्सियस पर बना रहा। ग्वालियर शहर में 21 सितंबर की रात हुई हल्की बारिश के बाद से मौसम लगातार शुष्क बना हुआ है। इसके चलते अधिकतम तापमान में गिरावट नहीं हो रही है, जिससे अभी भी गर्मी महसूस हो रही है। हालांकि सोमवार को मध्यम बादल छाए रहे लेकिन धूप भी खिली रही।

 

News : Tuesday, 03 Oct 2023

अभी नहीं हुई मानसून की विदाई, अगले 48 घंटों में शहर से वापस होगा मानसून

Monsoon In Gwalior:बंगाल की खाड़ी में बने कम दबाव के क्षेत्र के प्रभाव से जहां सोमवार को आसमान में बादलों की आवाजाही बनी रही, तो वहीं मंगलवार को भी कमोबेश यही स्थिति रहेगी।

बंगाल की खाड़ी में बने कम दबाव के क्षेत्र के प्रभाव से जहां सोमवार को आसमान में बादलों की आवाजाही बनी रही, तो वहीं मंगलवार को भी कमोबेश यही स्थिति रहेगी। शहर में तापमान सामान्य से ऊपर ही बना हुआ है, जबकि न्यूनतम तापमान में गिरावट का दौर भी थमा हुआ है। मौसम विभाग के अनुसार नए सिस्टम के कारण शहर में न तो वर्षा की संभावना है और न ही अभी मानसून की विदाई हो पाई है। इस सिस्टम के कमजोर पड़ने पर अगले 48 घंटों में शहर से मानसून वापस हो जाएगा।

मौसम विभाग के अनुसार इस समय दक्षिण महाराष्ट्र और दक्षिण झारखंड में अलग-अलग कम दबाव के क्षेत्र बने हुए हैं, लेकिन इनका ग्वालियर-चंबल संभाग में ज्यादा प्रभाव नहीं है, क्योंकि मानसून की वापसी हो रही है। इस समय मानसून की वापसी रेखा गुलमर्ग, धर्मशाला, पंतनगर, इटावा, मुरैना, सवाई-माधोपुर, बाड़मेर से गुजर रही है। ऐसे में अब तेज बारिश की उम्मीद कम है। हालांकि अगले 24 घंटे के दौरान ग्वालियर, दतिया, भिण्ड, शिवपुरी जिलों में आंशिक से मध्यम बादल छाए रहने के साथ कहीं-कहीं बूंदाबांदी हो सकती है। वर्तमान में अंचल के मुरैना व श्योपुर जिलों से मानसून की वापसी हो चुकी है। एक से दो दिन में ग्वालियर सहित संभाग के अन्य जिलों से भी मानसून वापसी की संभावना है। गौरतलब है कि शहर में पिछले 10 दिन से अधिकतम तापमान 35 डिग्री सेल्सियस से ऊपर ही टिका हुआ है। सोमवार को भी यह 35.3 डिग्री सेल्सियस पर बना रहा। ग्वालियर शहर में 21 सितंबर की रात हुई हल्की बारिश के बाद से मौसम लगातार शुष्क बना हुआ है। इसके चलते अधिकतम तापमान में गिरावट नहीं हो रही है, जिससे अभी भी गर्मी महसूस हो रही है। हालांकि सोमवार को मध्यम बादल छाए रहे लेकिन धूप भी खिली रही।

 

News : Tuesday, 03 Oct 2023

अभी नहीं हुई मानसून की विदाई, अगले 48 घंटों में शहर से वापस होगा मानसून

Monsoon In Gwalior:बंगाल की खाड़ी में बने कम दबाव के क्षेत्र के प्रभाव से जहां सोमवार को आसमान में बादलों की आवाजाही बनी रही, तो वहीं मंगलवार को भी कमोबेश यही स्थिति रहेगी।

बंगाल की खाड़ी में बने कम दबाव के क्षेत्र के प्रभाव से जहां सोमवार को आसमान में बादलों की आवाजाही बनी रही, तो वहीं मंगलवार को भी कमोबेश यही स्थिति रहेगी। शहर में तापमान सामान्य से ऊपर ही बना हुआ है, जबकि न्यूनतम तापमान में गिरावट का दौर भी थमा हुआ है। मौसम विभाग के अनुसार नए सिस्टम के कारण शहर में न तो वर्षा की संभावना है और न ही अभी मानसून की विदाई हो पाई है। इस सिस्टम के कमजोर पड़ने पर अगले 48 घंटों में शहर से मानसून वापस हो जाएगा।

मौसम विभाग के अनुसार इस समय दक्षिण महाराष्ट्र और दक्षिण झारखंड में अलग-अलग कम दबाव के क्षेत्र बने हुए हैं, लेकिन इनका ग्वालियर-चंबल संभाग में ज्यादा प्रभाव नहीं है, क्योंकि मानसून की वापसी हो रही है। इस समय मानसून की वापसी रेखा गुलमर्ग, धर्मशाला, पंतनगर, इटावा, मुरैना, सवाई-माधोपुर, बाड़मेर से गुजर रही है। ऐसे में अब तेज बारिश की उम्मीद कम है। हालांकि अगले 24 घंटे के दौरान ग्वालियर, दतिया, भिण्ड, शिवपुरी जिलों में आंशिक से मध्यम बादल छाए रहने के साथ कहीं-कहीं बूंदाबांदी हो सकती है। वर्तमान में अंचल के मुरैना व श्योपुर जिलों से मानसून की वापसी हो चुकी है। एक से दो दिन में ग्वालियर सहित संभाग के अन्य जिलों से भी मानसून वापसी की संभावना है। गौरतलब है कि शहर में पिछले 10 दिन से अधिकतम तापमान 35 डिग्री सेल्सियस से ऊपर ही टिका हुआ है। सोमवार को भी यह 35.3 डिग्री सेल्सियस पर बना रहा। ग्वालियर शहर में 21 सितंबर की रात हुई हल्की बारिश के बाद से मौसम लगातार शुष्क बना हुआ है। इसके चलते अधिकतम तापमान में गिरावट नहीं हो रही है, जिससे अभी भी गर्मी महसूस हो रही है। हालांकि सोमवार को मध्यम बादल छाए रहे लेकिन धूप भी खिली रही।

 

News : Tuesday, 03 Oct 2023

अभी नहीं हुई मानसून की विदाई, अगले 48 घंटों में शहर से वापस होगा मानसून

Monsoon In Gwalior:बंगाल की खाड़ी में बने कम दबाव के क्षेत्र के प्रभाव से जहां सोमवार को आसमान में बादलों की आवाजाही बनी रही, तो वहीं मंगलवार को भी कमोबेश यही स्थिति रहेगी।

बंगाल की खाड़ी में बने कम दबाव के क्षेत्र के प्रभाव से जहां सोमवार को आसमान में बादलों की आवाजाही बनी रही, तो वहीं मंगलवार को भी कमोबेश यही स्थिति रहेगी। शहर में तापमान सामान्य से ऊपर ही बना हुआ है, जबकि न्यूनतम तापमान में गिरावट का दौर भी थमा हुआ है। मौसम विभाग के अनुसार नए सिस्टम के कारण शहर में न तो वर्षा की संभावना है और न ही अभी मानसून की विदाई हो पाई है। इस सिस्टम के कमजोर पड़ने पर अगले 48 घंटों में शहर से मानसून वापस हो जाएगा।

मौसम विभाग के अनुसार इस समय दक्षिण महाराष्ट्र और दक्षिण झारखंड में अलग-अलग कम दबाव के क्षेत्र बने हुए हैं, लेकिन इनका ग्वालियर-चंबल संभाग में ज्यादा प्रभाव नहीं है, क्योंकि मानसून की वापसी हो रही है। इस समय मानसून की वापसी रेखा गुलमर्ग, धर्मशाला, पंतनगर, इटावा, मुरैना, सवाई-माधोपुर, बाड़मेर से गुजर रही है। ऐसे में अब तेज बारिश की उम्मीद कम है। हालांकि अगले 24 घंटे के दौरान ग्वालियर, दतिया, भिण्ड, शिवपुरी जिलों में आंशिक से मध्यम बादल छाए रहने के साथ कहीं-कहीं बूंदाबांदी हो सकती है। वर्तमान में अंचल के मुरैना व श्योपुर जिलों से मानसून की वापसी हो चुकी है। एक से दो दिन में ग्वालियर सहित संभाग के अन्य जिलों से भी मानसून वापसी की संभावना है। गौरतलब है कि शहर में पिछले 10 दिन से अधिकतम तापमान 35 डिग्री सेल्सियस से ऊपर ही टिका हुआ है। सोमवार को भी यह 35.3 डिग्री सेल्सियस पर बना रहा। ग्वालियर शहर में 21 सितंबर की रात हुई हल्की बारिश के बाद से मौसम लगातार शुष्क बना हुआ है। इसके चलते अधिकतम तापमान में गिरावट नहीं हो रही है, जिससे अभी भी गर्मी महसूस हो रही है। हालांकि सोमवार को मध्यम बादल छाए रहे लेकिन धूप भी खिली रही।

 

News : Tuesday, 03 Oct 2023

विधायक के खिलाफ लगी चुनाव याचिका में आज पेश हो सकता है जवाब

हाईकोर्ट में चल रही जजपाज जज्जी की चुनाव याचिका की सुनवाई आज यानी 3 अक्टूबर को होगी। इस सुनवाई के दौरान याचिकाकर्ता के वकील को जज्जी की ओर से लगाए गए आवेदन के रिप्लाई में अपना जवाब पेश करना है ।

 हाईकोर्ट में चल रही जजपाज जज्जी की चुनाव याचिका की सुनवाई आज यानी 3 अक्टूबर को होगी। इस सुनवाई के दौरान याचिकाकर्ता के वकील को जज्जी की ओर से लगाए गए आवेदन के रिप्लाई में अपना जवाब पेश करना है । पिछली सुनवाई पर इस आवेदन को स्वीकार कर हाईकोर्ट ने याचिका में परिवर्तन को लेकर निर्देश भी दिए है। इससे पहले जज्जी के जाती प्रमाणपत्र के खिलाफ लगी रिट अपील में भी फैसला आया जो विधायक के पक्ष में रहा ।विधायक की ओर से पैरवी कर रहे अधिवक्ता एसएस गौतम ने बताया कि विधायक के जाति प्रमाण पत्र को लेकर हाईकोर्ट में एक रिट अपील पर हुई सुनवाई में फैसला विधायक के पक्ष में आया है। जिसके बाद वह वर्तमान में चल रही चुनाव याचिका में कुछ संशोधन करना चाहते हैं। इसे लेकर विधायक की ओर से एक आवेदन पिछली सुनवाई पर हाईकोर्ट के सामने पेश किया गया था।

 

News : Tuesday, 03 Oct 2023

Gwalior स्कूलों में बढ़ी गतिविधियां तो पढ़ाई भी रोचक बनी

Gwalior Education New:स्कूलों में नई शिक्षा नीति के अंतर्गत छात्रों की सीखने की प्रक्रिया आसान बनाने के लिए कई परिवर्तन किए जा रहे हैं। इसी क्रम में सीएम राइज स्कूलों में हुक एवं प्रश्न बैंक के माध्यम से छात्रों की लर्निंग प्रोसेस को रोचक बनाया जा रहा है।

 स्कूलों में नई शिक्षा नीति के अंतर्गत छात्रों की सीखने की प्रक्रिया आसान बनाने के लिए कई परिवर्तन किए जा रहे हैं। इसी क्रम में सीएम राइज स्कूलों में हुक एवं प्रश्न बैंक के माध्यम से छात्रों की लर्निंग प्रोसेस को रोचक बनाया जा रहा है। इससे होता यह है कि छात्रों काे सिखाने का तरीका काफी आकर्षक हो जाता है जो छात्रों का ध्यान आकर्षित कर के रखता है। हुक और प्रश्न बैक की अवधारणा कक्षा 4 से 8 तक के छात्रों के लिए विशेष तौर पर काम करती है। इसमें हुक का काम होता है छात्र के परिवेश को पाठ की अवधारणा से जोडकर किसी गतिविधि के माध्यम से सिखाना। इसमें गतिविधियां कई प्रकार की हो सकती हैं , जैसे - रोल प्ले, कहानी सुना कर, रोचक सवाल पूछकर, छात्रों की पूर्व ज्ञान से जुडी गतिविधियों के बारे में सवाल जवाब कर के । इसके बाद छात्रों को जागरुक रखने के लिए किसी भी छात्र को चुनकर उससे सवाल पूछा जाता है। सीएम राइज स्कूल के शिक्षकों का कहना है कि यह सिखाने की तकनीक काफी मददगार साबित हो रही है।

 

News : Tuesday, 03 Oct 2023

न्यू जनक हॉस्पिटल में मरीज की बेटी का आरोप-स्टाफ ने की छेड़खानी, विरोध करने पर भाई को मारे लात-घूसे

ग्वालियर में मंगलवार को एक VIDEO सामने आया है, जिसमें एक हॉस्पिटल के अंदर कुछ डॉक्टर व स्टाफ एक युवक को लात और चांटे मारते हुए दिख रहे हैं। इस VIDEO में यह भी सुनाई दे रहा है कि पीटने वाला हॉस्पिटल स्टाफ गाली गलौज कर रहे हैं। यह वीडियो फुटेज न्यू जनक हॉस्पिटल का बताया जा रहा है।

इस मामले में पुलिस ने एक लड़की की शिकायत पर कंपू थाना में मामला दर्ज किया है। लड़की ने कंपू थाना पहुंचकर आरोप लगाया है कि हॉस्पिटल में उसके पिता भर्ती थे, जब उनको डिस्चार्ज करने के लिए कहा तो स्टाफ ने छेड़छाड़ कर दी। जिसका विरोध मेरे भाई ने किया तो स्टाफ ने उससे मारपीट की है।

 

News : Tuesday, 03 Oct 2023

ग्वालियर में लूट का प्रयास:मिर्च पाउडर आंखों में डालकर गल्ला लूट की कोशिश, पड़ोसी के आते ही भागे बाइक सवार

ग्वालियर में हाई अलर्ट के बीच एक लूट का प्रयास भी हुआ था। एक दिन पहले शहर के हजीरा स्थित यादव धर्मकांटा के पास बाइक सवार बदमाश एक सीमेंट एजेंसी के बाहर रुके। बाइक से एक युवक उतरा और सीमेंट का बैग मांगा। व्यवसायी ने पेमेंट के लिए कहा तो उसका कहना था कि आप सीमेंट का बैग निकालो मेरा साथी आकर पेमेंट कर रहा है। अभी व्यापारी कुछ समझ पाता कि युवक ने उनकी आंखों की तरफ लाल मिर्च फेंक दी। आंख मंे मिर्च जाते ही व्यापारी ने शोर मचाया तो आसपास के लोग आ गए। जिस पर बदमाश के इरादे नाकाम रहे और वह अपने साथी के साथ भाग गया। घटना की सूचना हजीरा थाना पुलिस को दी गई है। पुलिस इस मामले में जांच कर रही है।

शहर के हजीरा थाना क्षेत्र के यादव धर्मकांटा निवासी मुंशीलाल किरार पुत्र जनवेद सिंह किरार सीमेंट व्यवसायी है। उनकी घर के नीचे ही सीमेंट की एजेंसी है। एक दिन पहले वह अपनी दुकान पर बैठे हुए थे कि तभी दो युवक उनके पास आए और एक सीमेंट की बोरी व कुछ अन्य सामान मांगा। पेमेंट के लिए उन्होंने बताया कि उनका साथी आने वाला है। इस पर वह उसके साथी का इंतजार करने लगे। तभी एक युवक वापस बाइक पर पहुंचा और दूसरा उनके पास ही रुका रहा। इसी बीच जब मुंशीलाल एजेंसी में अंदर की तरफ पहुंचे तो युवक उनके पीछे आया और उनके ऊपर मिर्च पाउडर फेंक दिया। अचानक हुए हमले से वह घबरा गए और मदद के लिए शोर मचाया।
गल्ला पर हाथ मारते हो गई भीड़ एकत्रित, भागे बदमाश
बदमाश गल्ला लूट पाते उससे पहले ही व्यवसायी की चीख सुनकर पास की दुकान पर बैठा आकाश गुप्ता व अन्य वहां पर पहुंचें। माजरा समझते ही उन्होंने भी शोर मचाया तो बदमाश अपने साथी के साथ बाइक पर बैठकर भाग निकला। घटना का पता चलते ही व्यवसायी के परिजन वहां पर पहुंचे और बदमाशों का पीछा करने का प्रयास किया, लेकिन बदमाश हाथ नहीं आए। पुलिस को मामले की सूचना दी गई है। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और जांच पड़ताल शुरू कर दी है।

News : Tuesday, 03 Oct 2023

Gwalior Zoo : जू का होगा विस्तार: अब ओपन एवियरी में होगा पक्षियों का दीदार

फूलबाग स्थित गांधी प्राणी उद्यान यानी जू के विस्तार की तैयारियां शुरू हो गई हैं। यहां स्वर्ण रेखा नाले के दूसरी तरफ बाउंड्रीवाल का काम चल रहा है।

लगभग दो हेक्टेयर जमीन पर इंदौर जू की तर्ज पर ओपन एवियरी, एक एनिमल रेस्क्यू सेंटर और रैपटाइल्स एरिया तैयार किया जाएगा। इसमें सैलानियों के आकर्षण का सबसे बड़ा केंद्र ओपन एवियरी होगी, जिसमें पक्षी पिंजरे के बजाय खुले में उड़ते नजर आएंगे।

इसमें 30 प्रजाति के 200 से अधिक पक्षियों को रखा जाएगा। इनमें तोते से लेकर मकाऊ, डव, लव बर्ड्स आदि प्रजातियां शामिल हैं। दरअसल, दो वर्ष पहले इंदौर के जू में ओपन एवियरी तैयार की गई थी। इसमें पक्षियों को प्राकृतिक परिवेश मिलता है, साथ ही उन्हें उड़ने के लिए जगह मिलती है। एवियरी में एक निश्चित ऊंचाई पर मजबूत कपड़े की जालियां लगा दी जाती हैं, ताकि पक्षी उस दायरे के अंदर ही रहें। ठीक इसी तर्ज पर अब ग्वालियर में जू के विस्तार के साथ ही एवियरी तैयार करने की प्लानिंग बनाई गई है। यह एवियरी जलविहार के सामने तैयार की जाएगी। 

News : Saturday, 30 Sep 2023

प्रदेश समाचार

ट्रेंडिंग

इंदौर

भोपाल

ग्वालियर